Home > आपका शहर > जयपुर में कर्फ्यू , पुलिस का फ्लैग मार्च ।

जयपुर में कर्फ्यू , पुलिस का फ्लैग मार्च ।

flag

जयपुर: शहर के रामगंज में दो कोरोना संक्रमित मिलने के बाद सात थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू लगा हुआ है। इनमें सुभाष चौक, रामगंज, कोतवाली, माणकचौक, ब्रह्मपुरी, नाहरगढ़ व गलता गेट इलाके शामिल हैं। गुरुवार को रामगंज क्षेत्र में पहला कॉरोना संक्रमित व्यक्ति मिला था। जिसके बाद शुक्रवार रात पॉजिटिव मरीज से संपर्क में आया एक और व्यक्ति संक्रमित पाया गया। संक्रमित व्यक्ति 14 दिन पहले ओमान से लौटा था। 45 साल के इस व्यक्ति ने चिकित्सा विभाग का आदेश न मानकर पूरे शहर को खतरे में डाल दिया। ओमान से लौटने के बाद व्यक्ति को क्वारैंटाइन होना था, लेकिन वह दोस्तों से मिलता रहा, मस्जिद जाकर नमाज पढ़ता रहा और शहर में घूमता रहा।

flag

ओमान से लौटने के बाद सीएमएचओ और मेडिकल टीम ने इस व्यक्ति को क्वारैंटाइन में रहने के लिए कहा था। लेकिन, वह न केवल परिजनों और खुद के बच्चों से मिलता रहा, बल्कि दोस्तों और रिश्तेदारों से भी मिला। यहां तक कि नमाज ओमान से लौटने के बाद सीएमएचओ और मेडिकल टीम ने इस व्यक्ति को क्वापढ़ने रहमानिया मस्जिद भी गया। यहां नमाज पढ़कर कई लोगों से मिला। 24 मार्च को इसे बुखार आया, तो एसएमएस अस्पताल की कोरोना ओपीडी में हिस्ट्री और लक्षण देखकर उसे भर्ती कर लिया गया। गुरुवार को रिपोर्ट पॉजिटिव आते ही पूरा क्षेत्र अति संवेदनशील घोषित कर दिया गया है।

शनिवार को जयपुर शहर के परकोटे में सात थाना क्षेत्रों में अतिरिक्त पुलिस बल ने कर्फ्यू ग्रस्त इलाकों में फ्लैग मार्च निकाला। इस दौरान पुलिस ने लोगों से घरों से बाहर नहीं निकलने की अपील की। पुलिस ने यह भी आश्वस्त किया कि घरों में जरूरत का सामान डोर टू डोर पहुंचाया जाएगा।

जयपुर शहर में सैनेटाइज़शन का काम शुरू

जयपुर शहर परकोटे में शनिवार को हर गली मोहल्ले में सैनेटाइज़शन का काम शुरू हो गया है , जयपुर नगर निगम के वाहनों के द्वारा पुरे परकोटे में सैनिटाइज़र का छिड़काव किया गया है ।
रविवार को जयपुर की कॉलोनियों में भी सैनेटाइज़शन का काम शुरू हो गया , दमकल की १० गाड़ियों को इस काम में लगा दिया गया है ,
पूर्वी जयपुर की कॉलोनी जैसे झोटवाड़ा , विद्याधर नगर , कालवाड़ रोड पर दमकल की गाड़ियों के द्वारा छिड़काव किया गया ।

flag

कॉल डिटेल से पता कर रहे, किनसे मिला पीड़ित

ओमान से लौटे व्यक्ति की लापरवाही का नतीजा यह हुआ कि गुरुवार को उसके कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद उसके संपर्क में आए 200 से ज्यादा लोग दहशत में आ गए। इसके अलावा पूरा प्रशासन और सरकार सकते में आ गई है कि परिवार के 32 लोग जिन हजारों लोगों से मिले… उन्हें कहां और कैसे ढूंढा जाए। पॉजिटिव व्यक्ति के मोबाइल की कॉल डिटेल व लोकेशन का एनालिसिस किया जा रहा है, ताकि पता चल सके कि उनसे मिलने वाले लोग कौन-कौन हैं और इस वक्त वे कहां पर हैं। पुलिस ने अपील की है कि अगर किसी व्यक्ति ने संक्रमित से मुलाकात की हो, तो प्रशासन को सूचना जरूर दे। जयपुर में अबतक 9 संक्रमित मिल चुके हैं।

परिवार को आइसोलेशन में रखा गया

ओमान से लौटे व्यक्ति की रिपोर्ट पाॅजिटिव आते ही सीएमएचओ नरोत्तम शर्मा मौके पर पहुंचे, तो इलाके में दहशत फैल गई। उन्होंने बताया कि युवक के घर में मौजूद उसकी पत्नी, दो बच्चों और तीन भतीजों के सैंपल लेकर उन्हें एसएमएस अस्पताल के आईसोलेशन वार्ड में भर्ती करा दिया गया है। उनसे मिलने-जुलने वालों की सूची तैयार कर ली गई है। पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव समेत प्रशासनिक अधिकारियों ने भी वहां पहुंचकर लोगों से पूछताछ की।

सात इलाकों में कर्फ्यू लगने का कारण

पुलिस सूत्रों के मुताबिक ये 7 इलाके सबसे ज्यादा घनी आबादी वाले क्षेत्र हैं। रामगंज में पॉजिटिव पाए जाने वाले व्यक्ति जिन लोगों से मिला, उनके जरिए कई हजार लोगों में एक दूसरे के बीच संपर्क हुआ। इससे यह अंदेशा लगाया जा रहा है कि और भी लोगों में कोरना पॉजिटिव हो सकते हैं। इसलिए सोशल डिस्टेंस को कड़ाई को लागू रखने के लिए 7 इलाकों में कर्फ्यू लगाया गया है। ये सातों जगह जयपुर शहर के परकोटा इलाके में है। यहां पिछले 3 दिनों से लॉकडाउन होने के बाद भी नियमों की धज्जियां उड़ाई जा रही थी। लोग बेपरवाह होकर सड़कों पर निकल रहे थे। सब्जी सामान राशन की दुकानों पर भीड़ लगी हुई थी।