Home > आपका शहर > खाटू श्याम जी मंदिर ट्रस्ट का जाली चेक बनाकर उड़ाए 20 लाख, बैंक कर्मी पर शक।

खाटू श्याम जी मंदिर ट्रस्ट का जाली चेक बनाकर उड़ाए 20 लाख, बैंक कर्मी पर शक।

सीकर : खाटूश्याम मंदिर कमेटी के जाली चेक बनाकर बैंक से 20 लाख रु चोरी करने का मामला सामने आया है, एक हफ्ते के अंदर 2 बार चेक के द्वारा बैंक से किसी ने कमेटी के खाते से 20 लाख रु का गबन किया है कमेटी के मेंबर को 3 दिन पहले इस बात का पता चला जब उन्होंने खाते का विवरण चेक किया , इस मामले में कमेटी कि तरफ से पुलिस में प्राथमिकी दर्ज करवाई गई है पुलिस को किसी बैंक कर्मी पर शक है। वजह चेक के सीरियल नंबर पता होना है।

भक्त जमा करवाते है दान का पैसा

कमेटी का एक बचत खाता स्टेट बैंक ऑफ इंडिया खाटू ब्रांच में कई वर्षों से है, खाते का संचालन कमेटी के अध्यक्ष , मंत्री और कोषाध्यक्ष संयुक्त रूप से करते है, चेक पर इन तीनों के हस्ताक्षर होते है खाते में भगवान खाटू श्याम को आने वाले चढ़ावे की रकम को जमा किया जाता है।

चेक का क्लोन बनाकर दिया वारदात को अंजाम

बैंक से स्टेटमेंट लेने पर पता चला कि कोई मोहम्मद शेख अनवर जाहिर नाम के खाते में पैसे ट्रांसफर हुए है, चोर ने चेक की हूबहू कोपी तैयार की ओर तीनों पदाधिकारियों के फर्जी हस्ताक्षर करके 994000 रू 18 अगस्त को और 995000 रू 25 अगस्त को सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के खाते में ट्रांसफर कर लिए।

बैंक ने नहीं किया वेरिफिकेशन

कमेटी के कोषाध्यक्ष श्याम सिंह चौहान ने पुलिस को बताया कि कमेटी कि तरफ से 2 लाख से अधिक का चेक क्लियरिंग के लिए जाता है तो बैंक से अधिकृत मोबाइल नंबर पर वेरिफिकेशन के लिए फोन आता है लेकिन दोनों चेको की क्लीयरिंग के वक्त ना तो बैंक से कोई फोन आया ना ही कोई मैसेज आया।

दोनों असली चेक कमेटी के पास सुरक्षित

जिन दो चेकों से राशि का गबन किया गया उसके असली दोनो चेक कमेटी की चेकबुक में सुरक्षित रखे हुए है अब सवाल ये है कि अपराधी को चेक के सीरियल नंबर का पता कैसे चला,?ऐसे में पुलिस अब बैंक कर्मियों के साथ इस खाते से जिन जिन लोगो को भुगतान जारी हुआ उनसे भी पूछताछ करेगी और जिस खाते में रकम जमा हुई उसके जरिए भी अपराधी का पता लगाने की कोशिश करेगी।

फर्जी चेक से पैसा निकालने का पहला मामला

चेक का क्लोन तैयार करके पैसों के गबन का अपनी तरह का पहला मामला सामने आया है , ऑनलाइन ठगी के मामले तो लगातार सामने आ रहे है ।